October 26, 2020

Unlock-1 के साथ PM मोदी के ‘मन की बात’

News

http://sirfsachikhabr.com

 

देश भर में लॉकडाउन के ऐलान के बाद पीएम नरेंद्र मोदी देशवासियों से ‘मन की बात’ की बात की। कोरोना संकट के दौरान यह तीसरी बार है जब पीएम मोदी ने देश के लोगों को इस कार्यक्रम के जरिए संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत में पूरी मजबूती के साथ कोरोना वायरस की लड़ाई लड़ी जा रही है। पीएम मोदी ने एक बार फिर लोगों से अपील करते हुए कहा कि दो गज की दूरी बनाए रखे। क्योंकि अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा खुल गया है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सबसे बड़ी ताकत देशवासियों की सेवा है। हमारे यहां सेवा परमो धर्म कहा गया है। दूसरों की सेवा में लगे व्यक्ति में कोई डिप्रेशन नहीं दिखता। उसके जीवन में जीवंतता प्रतिपल नजर आती है। डॉक्टर, मीडिया, नर्सिंग स्टाफ, पुलिस जो सेवा कर रहे हैं, उनकी मैंने कई बार चर्चा की है। इनकी संख्या अनगिनत हैं साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे देश की आबादी कई देशों से ज्यादा है, इसलिए चुनौतियां भी ज्यादा हैं,लेकिन हमारे यहां काफी कम नुकसान हुआ है। जो कुछ हम बचा पाएं हैं, वो सामूहिक प्रयास से सफल हुआ है।

बता दें कि पीएम मोदी ने एक बात और कहीं जिसमें उन्होंने कहा कि एक बात जो दिल को छू गई वो वह है लोगों का इनोवेशन नासिक के एक गांव में किसान ने ट्रैक्टर से जोड़कर सैनिटाइजेशन मशीन बनाई है। कई दुकानदारों ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक पाइप लगाया है। इसमें ऊपर से सामान डालते हैं, जो दूसरी तरफ ग्राहक को मिल जाता है। इस महामारी पर जीत के लिए ये इनोवेशन ही बड़ा आधार है। इससे लंबी लड़ाई है, इसका पहले का कोई अनुभव ही नहीं है। उन्होंने कहा,अगरतला के ठेला चलाने वाले एक व्यक्ति रोज अपने घर से खाना बनाकर लोगों को बांट रहे हैं। देश के कई इलाकों से सेवा की कहानियां सामने आ रही हैं। हमारी मांएं-बहनें लाखों मास्क बना रही हैं। कई लोग मुझे नमो ऐप पर मुझे अपने प्रयासों के बारे में बता रहे हैं। मैं समयाभाव के चलते लोगों का नाम नहीं ले पाता पर उनका तहेदिल से आभारी हूं।’

साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि भारत भी इसके प्रभाव से अछूता नहीं है। कोई वर्ग ऐसा नहीं है जो इसके प्रभाव से दूर हो। गरीबों पर सबसे ज्यादा असर पड़ा। कौन ऐसा होगा जो उनकी तकलीफ नहीं समझेगा। पूरा देश उन्हें समझने में लगा है। लॉकडाउन पर पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए चार चरणों में 68 दिन चला और अब लॉकडाउन का दौर 1 जून से खत्म हो रहा है। गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन-5 की जगह अनलॉक-1 का फॉर्मूला दिया है। इसकी गाइडलाइंस भी जारी की हैं। रियायतें बढ़ाने के साथ ही सरकार ने मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग समेत कई ऐहतियात बरतने की सलाह दी है। लॉकडाउन की पाबंदी 30 जून तक सिर्फ कंटेनमेंट जोन में रहेंगी। रियायतों पर अंतिम फैसला राज्य सरकारें करेंगी। राज्य कंटेनमेंट के बाहर भी गतिविधियां रोक सकते हैं।

Amritanjali Rai

Facebook Comments