February 27, 2021

टूटेगा लॉकडाउन का ‘लॉक’ या जारी रहेगी सख्ती…? क्योंकि जान और जहान दोनों को बचाना है..

टूटेगा लॉकडाउन का ‘लॉक’ या जारी रहेगी सख्ती…? क्योंकि जान और जहान दोनों को बचाना है..

देश में कोरोना वायरस के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. अबतक कुल केस की संख्या डेढ़ लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है. इस बीच लॉकडाउन 4.0 की भी 31 मई को खत्म होने वाली है. ऐसे में अब हर किसी के मन में एक ही सवाल है कि 1 जून से क्या होगा। क्या लॉकडाउन 5.0 आएगा या फिर पूरी तरह से छूट मिल जाएगी. इसी को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्रियों साथ मंथन भी किया. आपको बता दें कि जिस तरह से कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, उससे साफ नजर आ रहा हैं कि लॉकडाउन का लॉक पूरी तरह खुलना मुश्किल है.

गृहमंत्री अमित शाह ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की वहीं लॉकडाउन 4 के हालात की समीक्षा हुई। गृहमंत्री ने राज्यों से लॉकडाउन 5 को लेकर उनकी राय ली और आगे के प्लान पर बातचीत भी की । हालाकि कई राज्यों ने अभी से ही अपने राज्य में लॉकडाउन या फिर सख्ती को आगे तक के लिए बढ़ा दिया है.

इसके अलावा कैबिनेट सेक्रेटरी ने भी राज्यों के सचिवों और सबसे प्रभावित जिलों के अधिकारियों के साथ लॉकडाउन और कोरोना के संकट पर बातचीत किया और हल निकलाने को कोशिश की। दरअसल अब तक के हालात यही कहते हैं कि लॉकडाउन खुलने का फैसला कोरोना की रफ्तार पर निर्भर करेगा। पिछले चार दिन के आंकड़े देखें तो हर दिन 6 हजार से ज्यादा कोरोना के सामने आ रहे हैं.

कोरोना की बढ़ती रफ्तार लॉकडाउन खुलने की राह में रोड़ा नजर आ रहा है खुद राज्यों के बीच आवाजाही को लेकर बात बनती और बिगड़ती दिख रही है वहीं हरियाणा सरकार ने साफ कर दिया है कि दिल्ली के साथ सटे अपने बॉर्डर को नहीं खोलेगी लॉकडाउन को लेकर केंद्र पहले ही फैसला राज्यों सरकारों पर छोड़ चुकी है. कोरोना के बढ़ते मामले ही राज्यों के लिए सिरदर्द बना हुआ हैं। ऐसे में लॉकडाउन 5 को लेकर फैसला आसान नहीं होगा क्योंकि जान और जहान दोनों को बचाना है..।

Amritanjali Rai

Facebook Comments